भोजपुरी को उसकी मिठास और उसकी पवित्रता के लिए जाना जाता रहा है लेकिन दौलत और शोहरत के लिए अश्लीलता को शार्टकट मानकर परोसने वाले कुछ भोजपुरी कलाकारों ने इसकी मिठास और इसकी पवित्रता पर जो चोट की है उसकी सफाई के लिए बहुत मेहनत की जरूरत है हांलाकि अभियान शुरू है और और डीटीवी भारत और कुछ अन्य चैनलों और संगठनों के अभियान के बिहार में अश्लील गीतों और कलाकारों की खूब मुखालफत हो रही है। बावजूद इसके भोजपुरी को गंदा करने के जिम्मेवार लोग अपने गुनाह से तौबा करने को तैयार नहीं हैं।

एक भोजपुरी गायिका हैं अंतरा सिंह प्रियंका आप जितने गंदे गाने सोंच नहीं सकते उन्होंने गाया है। अश्लीलता की सारी हदों को पार करते हुए मैडम ने ऐसे ऐसे गाने गाये हैं कि न तो आप उसके टाइटल को दुहरा सकते है, सुनना तो दूर की बात है। हां उसका पोस्टर भी देख या दिखा नहीं सकते।

उम्मीद थी इस वक्त जब भोजपुरी में अश्लीलता को लेकर एक अभियान चलाया जा रहा तब मैडम शायद अपने गुनाहों से तौबा कर लें लेकिन नहीं अंतरा सिंह प्रियंका ने एक बार फिर सारी हदें लांघ दी है। उनका एक गाना आया है ‘पड़ोसन जिंदाबाद’ जिसमें मैडम कहती हैं-‘जरा सा चमरा क्या लटक गया, भतार साला भटक गया’। अब आप तय कर लीजिए ये कितने मनबढूं हैं और किस हद तक भोजपुरी को बर्बाद करने पर उतारू हैं। अब तक इनको सदबुद्धि नहीं आयी है हांलाकि अब बिहार के लोग, इनके दर्शक-श्रोता सब इनको आइना दिखा रहे हैं जाहिर है बहुत जल्द सदबुद्धि आ जाएगी।’