सोशल मीडिया को लेकर सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। सोशल मीडिया पर आपतिजनक पोस्ट करने वालों के खिलाफ अब सख्त कार्रवाई होगी और उन्हें पांच साल की जेल भी हो सकती है। मीडिया रिर्पोट के मुताबिक देश में सोशल मीडिया न्यूज़ पोर्टल ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर सरकार ने लगाम लगा दी है। अब सभी को नियमों का अनुशासन मानना होगा क्योंकि केंद्र सरकार ने इसके लिए गाइडलाइन जारी कर दी है इसके तहत सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को किसी आपत्तिजनक पोस्ट की शिकायत मिलने पर उसे 24 घंटे में हटाना होगा भारत की एकता अखंडता सामाजिक व्यवस्था दुष्कर्म जैसे मामले में की गई आपत्तिजनक पोस्ट या मैसेज को सबसे पहले पोस्ट करने वाले की पहचान नहीं होगी कम से कम 5 साल की सजा होगी डिजिटल मीडिया यह नियम लागू होंगे.

गुरुवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और जानकारी दी।इस नए नियम से सोशल मीडिया पर आठ तरह से सख्ती बरती जा रही है जिनमें सबसे पहले सोशल मीडिया कंपनियों का आपत्तिजनक पोस्ट के फर्स्ट ओरिजन को ट्रेस करना होगा यानी सोशल मीडिया पर खुराफात सबसे पहले किसने शुरू की। अगर भारत के बाहर से इसका ओरिजिनल भारत में से किसने सबसे पहले सर्कुलेट किया यह बताना होगा