रामकृपाल यादव का पुराना दर्द आज जुबां पर आ गया। संसद में अपने स्पीच के दौरान रामकृपाल यादव ने कहा कि लालू यादव की पार्टी में मैंने अपनी पूरी जवानी लगा दी, अपने खून पसीने से पार्टी को खड़ा किया लेकिन लालू यादव ने अपने स्वार्थ के लिए एक मिनट में मुझे पार्टी ले निकाल दिया. मैं बीजेपी में बिल्कुल नया था फिर भी मुझे पार्टी ने मंत्री बना दिया यदि लालू यादव की पार्टी में रहता तो कभी भी मंत्री नहीं बनता.सांसद रामकृपाल यादव ने संसद में भावुक होकर कहा कि मैं कभी भूल नहीं सकता जो पीएम ने मुझे सम्मान दिया है. पीएम मोदी ने दूध बेचने वाले के बेटे को मंत्री बना दिया और ये तभी हो सकता है जब गरीब का बेटा, चाय बेचने वाले का बेटा देश का प्रधानमंत्री हो. विपक्ष पर निशाना साधते हुए सांसद ने कहा कि मैं इन लोगों के रग रग से वाकिफ हूं.

लंबे समय तक मैंने इनका साथ दिया मुझे सब पता है ये लोग अपने लिए जीते हैं सिर्फ सत्ता के लिए जीते हैं.सीएए के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन पर सांसद राम कृपाल यादव ने कहा कि कानूनी प्रावधान के तहत इसी संसद से सीएए देश में लागू हुआ है. विरोध के नाम पर देश में संविधान की धज्जिया उड़ाई जा रही है. लोगों को गुमराह किया जा रहा है. सबको पता है कि भारत वर्ष को आजाद हुए 70 वर्ष से अधिक हो गए हैं फिर आजाद मुल्क में किस बात की आजादी मांगी जा रही है.