बिहार में बहुचर्चित अस्टिेंट प्रोफेसर नियुक्ति घोटाला मामला एक बार फिर सुर्खियों में है और सुखिर्यों में हैं इस मामले के आरोेपी तत्कालीन वाॅइस चांसलर मेवालाल चैधरी। मेवालाल चैधरी को नीतीश की नयी सरकार में िशक्षा मंत्री बनाया गया है। लगातार यह सवाल उठ रहे हैं कि भ्रष्टाचार पर जीरो टाॅलरेंस की बात करने वाले नीतीश ने मेवालाल चैधरी जिनके खिलाफ अब भी जांच चल रही है उनकोे शिक्षा मंत्रंी क्यों बनाया?

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सुबह-सुबह इस मामले को लेकर नीतीश पर निशाना साधा है। तेजस्वी ने अपने ट्वीट में लिखा है-‘मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अस्स्टिेंट प्रोफेसर की नियुक्ति और भवन निर्माण में भ्रष्टाचार के गंभीर मामलों में आईपीसी 409, 420, 467, 468, 471 और 120 बी के तहत आरोपी मेवालाल चैधरी को शिक्षा मंत्री बनाकर क्या भ्रष्टाचार करने का इनाम एवं लूटने की खुली छूट प्रदान की है।