उपचुनाव में सीटों की खीचंतान में उलझकर महागठबंधन पहले हीं बिखर चुका है। अब आरोप-प्रत्यारोप और वार-पलटवार का दौर चल रहा है। बिहार के पूर्व सीएम सह हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने महागठबंधन के बिखराव के लिए तेजस्वी यादव को जिम्मेवार ठहरा दिया है और पूछा है कि क्या तेजस्वी यादव बीजेपी की मदद करना चाहते हैं। हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने वीआईपी के मुकेश सहनी के साथ प्रेस कॉफ्रेंस कर उपचुनाव में सीट शेयरिंग को लेकर फिर अपनी नाराजगी जाहिर की।

उन्होंने कहा कि राजद की गलती के कारण ही नाथनगर में हम सेक्यूलर और सिमरी बख्तियारपुर में वीआईपी के कैंडिडेट खड़े हुए और अब मैदान में डटे रहेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा कि उनकी लड़ाई एनडीए और भाजपा से है। उन्होंने कहा कि महागठबंधन के स्वरूप में किसी से गलती होती है और महागठबंधन कमजोर होता है तो यह समझा जाएगा कि वह भाजपा को मदद करना चाहता है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि कहीं जानबूझकर तेजस्वी यादव भाजपा को मदद तो नहीं करना चाहते।