बिहार के मौजूदा राजनीतिक घटनाक्रम को देखते हुए तकरीबन यह तय हो गया है कि बिहार अब मध्यावधि चुनाव की ओर बढ़ रहा है. रोज नए खेल के आसार और उससे पनपते रोज ने सियासी सवाल बिहार की राजनीति की गर्माहट को लगातार बढ़ा रहे हैं. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ आने की संभावनाएं धीरे-धीरे मजबूत हो रही हैं. कल लालू यादव ने कहा है कि नीतीश कुमार पहले उनके साथ रहे हैं.



मीडियाकर्मियों ने जब लालू से पूछा कि क्या नीतीश के लिए लालू के दिल में जगह है. इसपर जवाब देते हुए लालू प्रसाद यादव ने कहा कि “जगह क्या होता है. जगह तो लोग बनाता है. बिगड़ते भी रहता है. रहे हैं नीतीश साथ में रहे हैं. अभी हम नहीं समझते हैं कि नीतीश के साथ जाने की कोई भी संभावना है.” लालू ने कहा कि “बेईमानी कर के नीतीश सत्ता में हैं. महागठबंधन के उम्मीदवारों को बेईमानी कर के कम वोटों से हराया गया.”