चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें कम होती हुई नजर आ रही है। 27 अक्टूबर को रांची हाईकोर्ट में लालू यादव की जमानत याचिका पर सुनवाई होनी है उसे पहले सीबीआई ने हाईकोर्ट में लालू की जमानत का विरोध किया है। सीबीआई ने कहा है कि लालू ने अभी तक आधी सजा नहीं काटी है लिहाजा उन्हें बेल नहीं दिया जाना चाहिए। सीबीआई ने अपने जवाब में सीआरपीसी की धारा 427 का भी जिक्र किया है.

[crpc की धारा 427 के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति को अलग अलग मामलों में सजा मिलती है तो एक सजा पूरी होने के बाद दूसरी सजा शुरू होगी. अगर कोर्ट ने सारी सजा के साथ चलने का आदेश दिया हो तभी वे साथ साथ गिनी जायेंगी. सीबीआई इस आधार पर लालू की जमानत का विरोध कर रही है.