जेडीयू ने सीएबी बिल को लेकर अपने कई बड़े नेताओं की नाराजगी की परवाह नहीं की है। पार्टी के अंदरखाने से उठने वाले विरोध के स्वर को नजर अंदाज करते हुए जेडीयू ने राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन कर दिया है। इससे पहले जब लोकसभा में जेडीयू ने बिल का समर्थन कियाा तो तो पार्टी के अंदरखाने से विरोध और असहमति के स्वर लगातार उठ रहे थे। आपको बता दें कि जेडीयू ने लोकसभा में जब इस बिल का समर्थन किया था तो प्रशांत किशोर, पवन वर्मा, एनके सिंह, गुलाम रसूल बलियावी ने पार्टी के फैसले पर असहमति जतायी थी।

प्रशांत किशोर ने तो इस फैसले को पार्टी के संविधान के खिलाफ बताया था। राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने बिल का समर्थन कर यह मैसेज दे दिया कि प्रशांत किशोर और अन्य की बातों का सीएम नीतीश पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है.आरसीपी सिंह ने आज राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन किया. राज्यसभा में जेडीयू के राज्यसभा सांसद ने बिहार में मदरसों के हालत की तुलना कांग्रेस और एनडीए राज से की.