बिहार में जेडीयू और आरजेडी के बीच सियासी जंग जारी है। आज जेडीयू ने तेजस्वी यादव को उनका एक पुराना वादा याद किराया है। दरअसल तेजस्वी ने प्रवासी मजदूरों को बिहार लाने के लिए 50 ट्रेनें और 2000 बसें देने का दावा किया था। जेडीयू ने पूछा है कि आखिर तेजस्वी यादव के इस दावे का क्या हुआ?

जेडीयू प्रवक्ता निखिल मंडल ने तेजस्वी पर निशाना साधा है। जेडीयू प्रवक्ता ने एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें उन्होंने कहा है कि -‘राजद के राजकुमार तेजस्वी जी का एक तकिया कलाम है काम करने का काम किया है, ये अलग बात है उन्होंने कुछ काम नहीं किया है। खैर पिछले-15-20 दिनों से फेसबुक और ट्वीटर पर वे लगातार बस और ट्रेन चला रहे हैं।तेजस्वी कह रहे हैं ट्रेन दूंगा, 2000 बसे दूंगा लेकिन दिया क्या जीरो बटा जीरो। जो देने वाले होते हैं क्या वे जता कर काम करते हैं।

निखिल मंडल ने कहा कि देने वाले देकर शांति से आगे बढ़ जाते हैं। तेजस्वी यादव ने ढिंढोरा पीट दिया लेकिन दिया कुछ नहीं। कुछ सीएम नीतीश कुमार से सीखीए जो लगातार बिहार से बाहर फंसे श्रमिकों को बिहार ला रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रेलमंत्री पियूष गोयल से कल हीं बात की है। बिहार के लोगों के लिए प्रतिदिन 50 ट्रेनें चलेगी। लेकिन तेजस्वी जी आप क्या कर रहे हैं। आपदा में भी आपको राजनीति हीं सूझ रही है।