हैदराबाद: हैदराबाद नगर निकाय चुनाव में भाजपा के जोरदार प्रचार अभियान के दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर किए जाने का ऐलान किया। इससे पहले योगी आदित्यनाथ ने कहा, “कुछ लोग मुझसे पूछ रहे थे कि क्या हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर किया जा सकता है।

मैंने कहा- क्यों नहीं? मैंने उनसे कहा कि भाजपा के सत्ता में आने के बाद हमने फैजाबाद का नाम अयोध्या और इलाहाबाद को प्रयागराज के रूप में नाम दिया, तो भाग्यनगर के रूप में हैदराबाद का नाम क्यों नहीं बदला जा सकता है?” योगी के इतना कहने के बाद ही समर्थकों ने समर्थन करते हुए जमकर से शोर किया। योगी ने यह बात ओल्ड सिटी के लाल दरवाजा में बोलते हुए कही थी जिसे ओवैसी की पार्टी के गढ़ के रूप में देखा जाता है।

इसके साथ ही स्थानीय सांसद और एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने जवाब देते हुए बीजेपी पर अटैक किया। ओवैसी ने कहा है कि बीजेपी के लोग यहां का नाम बदलना चाहते हैं, यहां रहने वालों को पाकिस्तान, अफगानिस्तानी रोहिंग्या बतातें है। 1 दिसंबर को मजलिस को वोट देकर इनके मुंह पर यहां की जनता तमाचा रसीद करेगी।

AIMIM नेता ओवैसी ने कहा, “बीजेपी के जितने लीडर है, चीफ मिनिस्टर है वो ये कह रहे हैं कि हैदराबाद का नाम बदल दिया जाएगा। मैं यहां कि आवाम से ये सवाल कर रहा हूं, क्या आप चाहते हैं कि हैदराबाद का नाम तब्दील कर दिया जाए? क्या आप हैदराबादा का नाम भाग्यनगर रखना चाहते हैं। अगर आप हैदराबाद के नाम को हैदराबाद रखना चाहते हैं तो मेरी आपसे गुजारिश है कि बीजेपी को शिकस्त दीजिए, मजलिस को कामयाब कीजिए।”