भारतीय खिलाड़ियों ने ओलंपिक में इस बार सर्वाधिक 7 मेडल जीते हैं। पहली बार एथलीट में किसी खिलाड़ी ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। जुवेलिन थ्रो में नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। वहीं भारतीय महिला खिलाड़ियों ने हॉकी के सेमीफाइनल में पहुंचकर हर किसी का दिल जीत लिया. जबकि 41 साल बाद पुरुषों की हॉकी टीम ने ओलंपिक में मेडल जीतकर पूरे देश को खुशी का मौका दिया। भारतीय ओलंपिक अभियान खत्म होने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने सरकार को देश में खेल की बेहतरी के लिए बेहतर काम करने की जरूरत है. साथ ही देश में खेल को बेहतर करने के लिए फंड रिलीज करने की सलाह दी है।



पी चिदंबरम ने ट्वीट करके लिखा, अगला ओलंपिक में सिर्फ तीन साल बाद 2024 में होना है। अभी से काम करना शुरू करिए। स्पोर्ट्स बॉडीज को अभी से कोच, फिटनेस एक्सपर्ट,फिजियोथेरेपिस्ट और काउंसलर नियुक्त कर देने चाहिए। सरकार को अभी से खेल के लिए फंड को अभी से आवंटित करे। सेंट्रल विस्टा, बुलेट ट्रेन और वैनिटी प्रोजेक्ट अभी इंतजार कर सकते हैं या कम से कम इनके फंड में 25 फीसदी तक की कमी की जा सकती है। सरकार को अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में हिस्सा लेने के लिए भुगतान करना चाहिए। युवा सितारों की पहचान 14-18 साल की उम्र के बीच ही कर लेनी चाहिए और उन्हें अभी 2024, 2028, 20232 के लिए तैयार करना शुरू कर देना चाहिए।