देश के चार राज्यों और एक केन्द्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान चुनाव आयोग की तरफ से कर दिया गया है। आज जब चुनाव आयोग ने प्रेस काॅन्फ्रेंस बुलायी थी तभी यह माना जा रहा था कि आयोग आज चुनाव की तारीखों का एलान कर देगा।मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुनाव की तारीखों का एलान किया. कोरोना काल के बाद से पहली बार एक साथ चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में चुनाव होने जा रहे हैं. हालांकि इससे पहले बिहार में भी कोरोना काल में ही चुनाव को संपन्न कराया गया था, जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में फिर से एनडीए की सरकार बनी है.असम में तीन चरणों में चुनाव होगा. 27 मार्च को पहले, 1 अप्रैल को दूसरे और 6 अप्रैल को मतदान होगा. जबकि असम में चुनाव का परिणाम 2 मई को आएगा. केरल और तमिलनाडु में सिर्फ एक चरण में चुनाव होगा.

6 अप्रैल को केरल और तमिलनाडु के सभी विधानसभा सीटों के लिए मतदान होगा. केंद्र शासित प्रदेश पुदुचेरी में में भी एक ही चरण में चुनाव कराया जायेगा. इस राज्य में भी 6 अप्रैल को ही मतदान होगा. इन तीनों राज्यों में मतगणना 2 मई को ही होगी.पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में मतदान होगा. 27 मार्च को पहले चरण,1 अप्रैल को दूसरे चरण का, 6 अप्रैल को तीसरे चरण, 10 अप्रैल को चैथे चरण, 17 अप्रैल को पांचवे चरण, 22 अप्रैल को छठे चरण, 26 अप्रैल को सातवें चरण और आखिरी यानी आठवें चरण की वोटिंग 29 अप्रैल को होगी. पश्चिम बंगाल चुनाव का परिणाम 2 मई को आएगा. केरल की 6 खाली संसदीय सीटों पर चुनाव भी 6 अप्रैल को आयोजित कराया जाएगा.