मुजफ्फपुर और उसके आसपास के इलाकों में महामारी बन कर आए एईएस यानि चमकी बुखार ने 200 से ज्यादा बच्चों की जान ली है। बच्चों की मौत बन कर मंडराने वाले इस बिमारी से लड़ाई के लिए सरकार ने डाॅक्टरों और विशेषज्ञों के अध्ययन के निर्देश दिये हैं। एक अणे मार्ग स्थित संकल्प में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चमकी बुखार संबंधित विभिन्न बिंदुओं पर विचार के लिए एक विशेष एक चिकित्सकीय दल के साथ बैठक की। चिकित्सीय में आयुर्वेद चिकित्सा के साथ-साथ एम्स पटना आईजीआईएमएस, पीएमसीएच, एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर के चिकित्सकों से संबंधित विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की।

उन्होंने आयुर्वेद चिकित्सक और विशेषज्ञ को अध्ययन करने को कहा। सीएम नीतीश कुमार ने अध्ययन करने के आदेश दिए. इसके बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि सामाजिक और आर्थिक सर्वे रिपोर्ट आने के बाद कई और कदम उठाए जाएंगे। सरकार की योजनाओं का लाभ दिया जाएगा। जीविका के माध्यम से सभी परिवारों को जोड़ा जा रहा है लोगों में जागरूकता फैलाई जा रही है।