पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का 67 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। हार्ट अटैक के बाद सुषमा स्वराज को दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। एम्स में भर्ती करते समय उनकी हालत बेहद गंभीर थी। सुषमा स्वराज के निधन से देशभर में शोक की लहर दौड़ गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुषमा स्वराज के निधन पर ट्वीट कर गहरा शोक व्यक्त किया है।सुषमा स्वराज के निधन पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी गहरा दुख जताया है।

सुषमा स्वराज के निधन पर गहरी शोक संवेदना प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि सुषमा स्वराज एक प्रखर वक्ता ओजस्वी एवं कुशल नेतृत्व के साथ-साथ विलक्षण प्रतिभा की धनी थीं। देशहित और लोक कल्याण के क्षेत्र में उनके द्वारा किए गए कार्यों को देश हमेशा याद रखेगा।सुषमा स्वराज को याद करते हुए नीतीश कुमार ने कहा है कि उनके निधन से देश को अपूरणीय क्षति हुई है। उनकी कमी हमेशा खलेगी नीतीश कुमार ने कहा है कि दुख की घड़ी में ईश्वर सुषमा स्वराज के परिजनों को धैर्य और साहस दे।