लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान की जयंती के अगले दिन यानि आज चिराग पासवान ने अपनी पार्टी के प्रत्याशियों एवं जिलाध्यक्षों की एक अहम बैठक बुलायी थी जिसमें रामविलास पासवान की बरसी में सीएम नीतीश के नहीं आने को लेकर एक निंदा प्रस्ताव पास किया गया साथ हीं सीएम के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी हुई।चिराग पासवान ने अपनी पार्टी के नेताओं से कहा-दलित होना रामविलास पासवान जी के लिए गुनाह बन गया.

तभी नीतीश कुमार ने उन्हें अछूत करार दे दिया.दरअसल चिराग पासवान ने आज अपनी पार्टी की बैठक बुलायी थी. इसमें तमाम प्रदेश पदाधिकारी, जिलाध्यक्ष औऱ पिछले विधानसभा चुनाव के प्रत्याशी मौजूद थे. बैठक में लोजपा नेत्री औऱ पूर्व मंत्री रेणु कुशवाहा ने प्रस्ताव पेश किया. उन्होंने कहा कि स्व. रामविलास पासवान को नीतीश कुमार ने अछूत बना दिया. उनकी बरसी में वे खुद नहीं आये. उनकी पार्टी का कोई नेता नहीं आय़ा. हद तो ये कि चिराग पासवान उन्हें मिलकर न्योता देना चाह रहे थे तो नीतीश जी ने न्योता लेने तक से इंकार कर दिया.