नई दिल्ली,जी.कृष्ण: देश में कोरोना वायरस के फैलाव से सभी लोग सहमे हैं, दहशत में है और लोग घरो मे कैद हैं ऐसे में नक्सलियों की चाल को भी समझना जरूरी है। नक्सली कोरोना में भी अपना फायदा देख रहे है। खुफिया विभाग आईबी के सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार नक्सली सोशल डिस्टेंसिंग की बजाय गांवों में सोशल नजदीकियां बढ़ा रहे हैं क्योंकि उनलोगों को इस बात की जानकारी है कि पुलिस या पारा मिलिट्री के जवान अभी गांव के अंदर आने वाले नहीं हैं। इसलिए लॉकडाउन का फायदा उठाकर ये लोग गांववालों को बहकाने जैसे कार्य में लगे हुए हैं।

इसके साथ ही गांव वालों को ये लोग बरगलाने का प्रयास कर रहे हैं कि गांव मे कोई भी पुलिस वाला हो या अन्य लॉक डाउन मे प्रवेश न करे। वहीं झारखण्ड पुलिस लगातार नक्सलियों के खिलाफ अभियान भी चला रही है। चाईबासा जिले में नक्सलियों से मुठभेड़ मे 3 नक्सली मारे गये हैं वही गिरिडीह मे अभियान के दौरान 4 शक्तिशाली आईडी बरामद किया गया है। खुफिया विभाग के सूत्रों के मुताबिक नक्सलियों की ये बौखलाहट की मुख्य वजह इस बात को लेकर है कि लॉकडाउन के कारण नक्सलियों का राशन/पैसों की उगाही का सप्लाई चेन काम नहीं कर रहा है। ये लोग राशन की कमी से जूझ रहे हैं। ये राशन के लिए गांववालों पर दबाव भी बना रहे हैं।