मुंबई: भोजपुरी सिनेमा में परिवार, समाज और संस्कार के कंसेप्ट् पर आधारित पटकथा वाली फिल्मोंं में सुपर स्टार अवधेश मिश्रा की उपस्थिति हिट की गारंटी मानी जाती है। इसकी बानगी एक बार फिर से देखने को मिली, जब छठ पूजा के अवसर पर बिहार में रिलीज उनकी फिल्म ‘विवाह’ को दर्शकों ने सर आखों पर बिठा लिया। हालांकि यह‍ फिल्म मुंबई में पहले ही रिलीज हो चुकी थी और सुपर हिट भी रही थी, लेकिन बिहार में जिस तरह से फिल्म को दर्शकों को प्यार मिला है, वह बेशुमार है।फिल्म के सभी शोज लगातार हाउसफुल चल रहे हैं। जानकारों की मानें तो ‘विवाह के इस शानदार प्रदर्शन में फिल्मे की कहानी के साथ – साथ त्योहारों की छुट्टियां भी शामिल हैं।

इससे पहले भी अवधेश मिश्रा की फिल्मी मेंहदी लगा के रखना, मैं सेहरा बांध के आउंगा, डमरू, जिला चंपारण जैसे कई पारिवारिक और सामाजिक फिल्में बॉक्स ऑफिस पर आयी, जो अवधेश मिश्रा की वजह से सुपर डूपर हिट रही। अब एक बार फिर से विवाह ने भोजपुरिया दर्शकों पर जादू चलाया है और फिल्म खासकर महिलाओं के दिल में अपनी जगह बनाने में कामयाब रही। फिल्म की कहानी शुरुआत प्रदीप पांडे चिंटू और उनके परिवार से होती है। फिल्म में भोजपुरी इंडस्ट्री के सबसे बड़े विलेन का किरदार निभाने वाले अवधेश मिश्रा उनके पिता का किरदार निभा रहे है। फिल्म में प्रदीप पांडे चिंटू का पूरा परिवार लड़की देखने जाता है, जिसे वो रिजेक्ट कर देते हैं। इसके बाद अवधेश मिश्रा की गाड़ी खराब होती है और वह एक अंजान शख्स से लिफ्ट मांगते हैं।

जहां उन्हें दो संस्कारी लड़कियां दिखती हैं। ये दोनों लड़कियां आकांक्षा अवस्थी और संचिता बनर्जी हैं, जो इस अंजान शख्स की बेटी है। उसके बाद जो होता है, वह बेहद रोमांचक है। इसके लिए आपको फिल्म देखनी होगी। गौरतलब है कि झंकार टेलीमीडिया के बैनर तले बनने वाली इस फिल्म के निर्माता संजय रैलहन व विजय रैलहन हैं। निर्देशक मनोज तोमर हैं। संगीत शिशिर पांडेय और मनोज आर्यन, गीतकार अरूण बिहारी और विनय निर्मल हैं।