कानपुर: मुख एवं दन्त रोग विशेषज्ञ डॉ ओजस कुमार सिंह ने बताया कि 31 मई को विश्व भर में आज तम्बाकू निषेद दिवस के रूप में मनाया जाता है,तम्बाकू एक धीमा जहर है जो सेवन करने वाले व्यक्ति को धीरे धीरे मौत के मुह में धकेलता है। एवं इससे होने वाले कैंसर का मुख्य कारण सारे धुम्रपान उत्पाद तथा इसको उपभोग करने वाले लोग है। विगत किये जागे शोध में ये साफ ज्ञात है कि सिगरेट और बीड़ी में चार से पांच हज़ार तक के केमिकल पाए जाते है।

जो कि कैंसर को बढ़ावा देते है और इसका सीधा प्रभाव पुरूषो में ज्यादा एवं महिलाओ में कम होता है,धूम्रपान वाले उत्पाद में धुंआ छोड़ने वाले उत्पाद में 2500 से अधिक केमीकल पाए जाते है इसमें कुछ केमिकल ऐसे होते है जो कैंसर को बढ़ावा देते है,अगर हम पुराना डेटा देखे तो सबसे ज्यादा भारत मे मुह के कैंसर के मरीज़ों की संख्या सबसे ज्यादा है, तम्बाकू की वजह से शरीर मे अन्य बीमारी भी उत्पन्य होती है जैसे


दांतो में पीला पन ,दातो में कमजोरी,Leukoplakia,मुह का काम खुलना,मुह में लाल एवं सफेद दाग, मसुडो में सूजन, मुह से दुर्गन्ध आना, इन सब बीमारियो के फलस्वरूप खाने पीने में दिक्कत होंना,शरीर का कमज़ोर होना, मेरी सभी लोगो से यही अपील है कि तम्बाकू एवं अन्य धूम्रपान के उपयोग से बचे और लोगो को भी जागरूक करे, एवं जागरूकता मिशन से जुड़कर लोगो को तम्बाकू न सेवन करने की सलाह दे ।