हाल के दौर में अपनी पार्टी के सहयोगी जेडीयू के शीर्ष नेता और बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर लगातार निशाना साधने वाले बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह आज कांग्रेस पर हमलावर थे। गिरिराज सिंह ने एनआरसी के बहाने कांग्रेस पर निशाना साधा। इससे पहले वे एनआरसी के बहाने जेडीयू और नीतीश कुमार को भी बहुत कुछ सुना चुके हैं। गिरिराज सिंह ने कहा कि अवैध तरीके से भारत में एंट्री करने वाले घुसपैठिए के संबंध में 1971 में ही इंदिरा गांधी ने कानून लाने का प्रस्ताव दिया था.

 

लेकिन कांग्रेसी वोट के सौदागरों ने उन्हें ऐसा नहीं करने दिया. दूसरे शब्दों में यह कहा जाए तो इंदिरा गांधी ने ऐसा करने का साहस नहीं दिखाया क्योंकि उन्हें अपनी सत्ता खिसकने का डर था.गिरिराज सिंह ने कहा कि उस समय भी इंदिरा गांधी ने कहा था कि भारत अपनी जनसंख्या के बोझ के तले दबा हुआ है, तो फिर यहां शरणार्थियों के लिए जगह नहीं हो सकती. लेकिन वोट की वजह से उन्होंने इस कानून को लाने का साहस नहीं किया.

आज देश में नरेंद्र मोदी की सरकार है और नरेंद्र मोदी की सरकार तथा अमित शाह दोनों संकल्पित हैं कि जिन्हें भारत की नागरिकता प्राप्त नहीं है या वैसे लोग जो अवैध तरीके से प्रवेश पा लिए हैं. वह चाहे बिहार में रहे या बंगाल में उन्हें बाहर निकाला जाएगा. एनआरसी के बहाने एक बार फिर गिरिराज सिंह ने अपने जनसंख्या नियंत्रण के संकल्प को दोहराया है.