जमुई, जी कुमार: वर्चस्व की लड़ाई को लेकर बीते 15 वर्षों से दो जातियों के बीच वर्चस्व की लड़ाई चलती आ रही है। इसमें अब तक दर्जन भर हत्याएं हो चुकीं हैं।

बदले की आग में हत्याओं का दौर रुकने का नाम नहीं ले रहा है। लंबे अंतराल के बाद शुक्रवार की सुवह अपराधियो के सामने गिडगिडाती रही तन्नू नजरो के सामने अपराधियो ने गोली मारकर उसके पिता की हत्या कर दिया।

बताया जाता है कि सदर थाना क्षेत्र के काकन गांव के पचपोनिया मोहल्ला निवासी दशरथ रजक का 30 वर्षीय पुत्र रामचन्द्र रजक शुक्रवार की सुवह अपने 12 वर्षीय पुत्री तन्नू कुमारी के साथ अपने बाइक पर सवार होकर गांव स्थित लेंगडी बहियार खेत में काम कर रहे अपने पिता व मां को खाना देने जा रहा था।

तभी वहां पहले से मौजूद तीन बाइक सवार नाकाबपोश अपराधियो ने पहले उसके बाइक को रोका उसके बाद अपराधियो ने सबसे पहले उसका मोबाइल छिन उससे कहने लगा की तूम सिंह समूदाय लोगो का मुखबिर हो गया है। अब तूमको मरना पडेगा।

वही मृतक व उसकी 12 वर्षीय नाबालिग पुत्री तन्नू अपराधियो के पैर पकड़कर अपने पिता की जान बचाने की गुहार लगाती रही पर अपराधियो ने उस नाबालिग की एक न सुनी और उन लोगो ने उसके सामने उसके पिता रामचन्द्र रजक को सबसे पहले एक गोली उसके पैरो में मारा।

वही मृतक अपनी जान बचाने के लिए बिचडा रोप रहे अपने पिता की और भागा तो नाकाबपोश अपराधियो ने खदेडकर बीच खेतो में जाकर दुसरी गोली पीठ सीने व आंख के समीप एक एक कर आठ गोलिया उसके सीने में उतार दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वही घटना के बाद जबतक आसपास के लोग जमा होते अपराधी बाइक से फरार हो गया।