नई दिल्ली,श्वेता: अंतरराष्ट्रीय महिलादिवास के मौके पर PM नरेंद्र मोदी ने अपना सोशल मीडिया अकाउंट्स देश की उन महिलाओं के हाथ में सौंपा है, जिसने देश के लिए कुछ बेहतर किया हो। यही नहीं जो महिला समाज के लिए एक प्रेरणा की तरह हो। इन्हीं मे से एक स्नेहा मोहनदास नाम की महिला भी हैं।स्नेहा ने पीएम मोदी के ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया है। इसमें उसने कहा है कि आपने फूड फॉर थॉट के बारे में सुना होगा, अब गरीबों के अच्छे भविष्य के लिए एक्शन का समय है। इसके साथ ही उसने कहा है कि मैं स्नेहा मोहनदास हूं, मैंने अपनी मां से प्रेरित होकर बेघरों को खाना ख‍िलाने की आदत डाली और मैंने फूडबैंक इंडिया के नाम से यह पहल शुरू की।

कौन हैं स्नेहा मोहनदास?

स्नेहा मोहनदास चेन्नई की रहने वाली हैं। फूडबैंक इंडिया नाम से वह एक संस्थान चलाती है। इस संस्थान का मुख्य उद्धेश्य बेघर व गरीब लोगों को खाना खिलाना है।  स्नेहा ने ट्वि‍टर में अपना एक वीडियो भी साझा किया है, जिसमें उन्होंने अपनी पहल फूड बैंक इंडिया के बारे में बताया। स्नेहा ने बताया कि साल 2015 में फूडबैंक इंडिया की शुरुआत हुई थी।  स्नेहा फूडबैंक इंडिया की फाउंडर हैं। वर्तमान में इस संस्था के साथ सैकड़ों लोग जुड़ चुके हैं. वो कहती हैं, मेरा सपना है कि भारत हंगर फ्री नेशन बने।