आपने अजब प्रेम की कई गजब कहानियां सुनी होगी। ऐसी हीं एक कहानी यूपी के कुशीनगर की है। दरअसल यहां एक एसडीएम साहब को मुहब्बत इतनी मंहगी पड़ी की उन्हें आधी रात को शादी रचानी पड़ी तो। तो चलिए हम आपको बताते हैं पूरा माजरा है क्या? दरअसल शुक्रवार को कलेक्ट्रेट के एडीएम ऑफिस में पूरे दिन फिल्मी ड्रामा दिन भर चलता रहा।

जिले के खड्डा तहसील में एसडीएम रहे दिनेश कुमार की पूर्व महिला मित्र ने उनपर शादी का झांसा देकर शारीरिक शोषण करने का आरोप लगाया। महिला का आरोप है कि शादी का झांसा देकर एसडीएम चार सालतक उसका शारीरिक शोषण करते रहे और कई बार उसका अबॉर्शन कराया।

जब उसने शादी का दबाव बनाया तो उसकी बुरी तरह पिटाई भी की।इस मामले में खुद को बुरी तरह से घिरता देख एसडीएम शादी के लिए राजी हुए, जिसके बाद देर रात पडरौना नगर के गायत्री मंदिर मेंहिन्दू रीति रिवाज से दोनों की बाकायदा शादी कराई गई। शादी में गवाह के रूप में पडरौना सदर एसडीएम रामकेश यादव और हाटा के एसडीएम प्रमोद तिवारी बने।