New Delhi, Umashankar:गंगा की रक्षा सहित कई मांगों को लेकर आमरण अनशन कर रहीं साध्वी पद्मावती की तबीयत बिगड़ गई। उन्हें बेहोशी की हालत में हरिद्वार के स्थानीय हॉस्पिटल से तुरंत उन्हें दिल्ली के AIIMS ले जाया गया।आपको बता दें कि पद्मावती 15 दिसंबर, 2019 से ही गंगा की रक्षा को लेकर अनशन कर रही हैं। इससे पहले 30 जनवरी को पुलिस ने उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया था।

कौन हैं साध्वी पद्मावती?
पद्मावती बिहार के नालंदा जिला की रहने वाली हैं। पिछले दिनों नालंदा के सांसद कौशलेंद्र कुमार और बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय झा पद्मावती से मिलने गए थे। भरोसा दिया था कि उनकी मांगें मान ली जाएंगी, लेकिन पद्मावती ने अनशन नहीं तोड़ा। कौशलेंद्र कुमार ने बजट सत्र के दौरान भी इस मसले को संसद में उठाया था।


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पद्मावती का अनशन तुड़वाने को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी थी। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के निर्देश पर कुछ अफसर पद्मावती से मिलने पहुंचे थे कि वो अनशन तोड़ दें, लेकिन ऐसा नहीं हो सका था। फिलहाल उन्हें आईसीयू में ही रखा गया है। इस बीच जल पुरुष राजेंद्र सिंह और अन्य गंगा प्रेमी दिल्ली पहुंचने लगे हैं। वहीं दूसरी ओर मातृ सदन में ब्रह्मचारी आत्मबोधानंद का आमरण अनशन 19वें दिन भी जारी रहा।