राजस्थान में सियासी उठा-पटक लंबे वक्त से चलता रहा है हांलाकि कांग्रेस आलाकमान सचिन पायलट को मनाने में कामयाब रहा है। सियासी उठा पटक में कई बार सीएम अशोक गहलोत सचिन पायलट पर भारी पड़ते दिखे हैं और अब जब सचिन पायलट मान गये तब भी सीएम गहलोत ने एक सियासी चाल चली। राजस्थान में विधानसभा सत्र शुरू होने सेे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्विटर पर सत्यमेव जयते लिखा था। राजस्थान सरकार में कानून और संसदीय मामलों के मंत्री शांति कुमार धारीवाल ने कहा कि हम विश्वास मत ला रहे हैं, यह हमेशा पहले आता है।

हमारे पास बड़ा बहुमत है। कांग्रेस की ओर से विश्वास मत प्रस्ताव का नोटिस देने के बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई थी। वहीं, सचिन पायलट ने कहा, श्आज मैं जब सदन में आया तो देखा कि मेरी सीट पीछे की ओर रखी गई है। मैं राजस्थान से आता हूं जो पाकिस्तान की सीमा पर है। बॉर्डर पर सबसे मजबूत सिपाही तैनात रहता है। मैं जब तक यहां बैठा हूं, सरकार सुरक्षित है।श् दरअसल, बहस के बीच विपक्ष के उपनेता राजेंद्र राठौड़ बार-बार पायलट का नाम ले रहे थे। जिस पर पायलट ने बीच में खड़े होकर स्पीकर से यह बात कही।