अयोध्या : राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ. रामविलास दास वेदांती ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर एक विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह विवादित ढांचा ध्वस्त किया गया था उसी तरह राम मंदिर भी बना लिया जाएगा। वेदांती ने दावा किया कि 2019 के पहले कभी भी अयोध्या में राम मंदिर बनना शुरू हो सकता है।

बीजेपी के पूर्व सांसद रामविलास वेदांती ने कहा, अगर 2019 के पहले मंदिर निर्माण का फैसला नहीं हो पाता तो उनके पास वैकल्पिक योजना है. जिस तरीके से अचानक विवादित ढांचा ध्वस्त किया गया, उसी तरीके से रातों-रात मंदिर निर्माण भी शुरू हो सकता है

वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक बार फिर अयोध्या में संतों की शरण में होंगे। योगी महंत नृत्यगोपाल दास के जन्मोत्सव समारोह में शामिल होने के लिए वहां जा रहे हैं। इसके जरिये संतों को लुभाने का प्रयास करेंगे क्योंकि कुंभ की अव्यवस्थाओं के लेकर संत समाज सरकार से नाराज है। लिहाजा लोकसभा चुनाव से पहले योगी के संतों खुश करने की कवायद काफी कारगर साबित हो सकती है।