29 जून को आरजेडी में रामा सिंह की एंट्री होने वाली थी लेकिन आरजेडी को अपने प्लान से पीछे हटना पड़ा क्योंकि पार्टी के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने आरजेडी को बैकफुट पर धकेल दिया। उन्होंने रामा सिंह की एंट्री से पहले हीं इस्तीफा देकर यह मैसेज दे दिया कि वो आर-पार के मूड में हैं।संकेत मिल रहा हैं कि रामा सिंह को आरजेडी को खुलकर ना नहीं कहा गया है और आरजेडी में उनकी एंट्री संभावना अब भी बनी हुई है।

सवाल यह है कि क्या रघुवंश प्रसाद सिंह की नाराजगी के बावजूद आरजेडी में रामा सिंह की एंट्री हो जाएगी? यह सवाल इसलिए है क्योंकि मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रामा सिंह को आरजेडी ने एक सप्ताह तक इंतजार करने को कहा है। तो क्या एक हफ्ते में रामा सिंह आरजेडी में एंट्री मार लेंगे?आपको बता दें कि रामा सिंह ने 2014 के आम चुनाव में वैशाली लोकसभा क्षेत्र से रघुवंश बाबू को करारी शिकस्त दी थी. उस समय रामा सिंह लोजपा की तरफ से उम्मीदवार थे. बताया जाता है कि लोजपा नेतृत्व से लगातार अनबन नाराज होने की वजह से लगातार राजद में शामिल होने के लिए प्रयासरत थे और इसी के तहत 16 जून को तेजस्वी यादव से मुलाकात की थी. जहां तेजस्वी यादव भरोसा दिलाया था कि 29 जून को उन्हें राजद में शामिल कर लिया जाएगा.