मथुरा, मदन सारस्वत  राजीव एकेडमी फार टेक्नोलाजी एण्ड मैनेजमेंट में द्वितीय एवं तृतीय वर्ष की कक्षाएं आनलाइन प्रारम्भ हो चुकी हैं। इतना ही नहीं एम.बी.ए., एम.सी.ए., बी.बी.ए., बी.सी.ए. बी.एस.सी. (सी.एस.), बी.ईकाम. तृतीय एवं पंचम सेमेस्टर की कक्षाओं का पठन-पाठन भी रक्षाबंधन के बाद चार अगस्त से हाईटेक तकनीकी माध्यम से आनलाइन शुरू कर दिया गया है। इतना ही नहीं कालेज प्रबंधन द्वारा वेबिनार और आनलाइन गेस्ट लेक्चर के माध्यम से भी विद्यार्थियों को लगातार ज्ञानार्जन कराया जा रहा है।
आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डा. रामकिशोर अग्रवाल ने कहा कि विद्यार्थियों और शिक्षण संस्थानों के लिए कोरोना महामारीकाल सबसे बड़ा संकट है, बावजूद इसके समुचित शिक्षण व्यवस्था के उपकरण और तकनीक उपलब्ध कराने के लिए संस्थान कटिबद्ध है। छात्र-छात्राओं के भविष्य को देखते हुए राजीव एकेडमी में सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। सभी प्राध्यापक समयानुसार आनलाइन विद्यार्थियों से जुड़कर उन्हें विषयवार पठन-पाठन करा रहे हैं। डा. अग्रवाल ने छात्र-छात्राओं से समय का सदुपयोग करने का आह्वान किया।
संस्थान के निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना का कहना है कि राजीव एकेडमी फार टेक्नोलाजी एण्ड मैनेजमेंट में सभी कक्षाओं का टाइम टेबल निर्धारित है, उसी के अनुसार सभी प्राध्यापकगण अपनी-अपनी कक्षाएं आनलाइन माध्यम से ले रहे हैं। सर्वविदित है कि कोविड-19 महामारी के परिणामस्वरूप विद्यार्थियों का कालेज आना सम्भव नहीं है लेकिन किसी भी दशा में विद्यार्थियों को कक्षा-शिक्षण से संलग्न रखना अनिवार्य है। इसी अनिवार्यता को बनाये रखने के लिए विद्यार्थियों के लिए आनलाइन माध्यम द्वारा शिक्षण व्यवस्था की गई है। डा. सक्सेनी ने समस्त विद्यार्थियों से अधिक से अधिक आनलाइन कक्षाएं अटेण्ड करने का आह्वान किया ताकि समय से कोर्स वर्क पूरा कराया जा सके।
डा. सक्सेना का कहना है कि आनलाइन शिक्षण के लिए संस्थान में समुचित हाईस्पीड इण्टरनेट, उपयोगी संसाधनों द्वारा यहां वर्क स्टेशन स्थापित किया गया जिसके माध्यम से समस्त विद्यार्थी आनलाइन कनेक्ट होकर अध्ययन कर रहे हैं। डा. सक्सेना का कहना है कि संस्थान में समस्त कोर्सों के लिए नवीन प्रवेश प्रारम्भ हो चुके हैं इसमें एम.बी.ए.,एम.सी.ए.,बी.बी.ए., बी.सी.ए., बीईकाम., बी.एस.सी. (सी.एस.), बी.लिव तथा एम.लिव आदि शामिल हैं।