पटना: यहां कुछ भी संभव है! आपको यकीन ना हो रहा हो तो इस खबर को गौर से पढ़िए। बात समझ में आ जाएगी। दरअसल पिछले दिनों IGIMS में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय की गाड़ी का पार्किंग कर्मियों ने 25 रुपये का चालान काट दिया। खबर है कि मंत्री मंगल पांडेय जी के ससुर अस्पताल में भर्ती हैं। उनसे मिलने वह बुधवार की रात 10 बजे आइजीआइएमएस गए थे इसी दौरान उनसे यह राशि ली गई।


कटने को तो कट कई मंत्री की चालान लेकिन उसके बात जो हुआ वह भी जान लीजिए। जब इसकी जानकारी शासी निकाय के अध्यक्ष को मिली की स्वास्थ्य मंत्री जी के गाड़ी का चालान काट दिया गया है तो उनके साथ-साथ अस्पताल प्रशासन सकते में और हरकत में आ गया।


आनन-फानन में अधीक्षण अभियंता से पार्किंग को लेकर रिपोर्ट तलब की गई। तब पता चला कि यह राशि भी अवैध तरीके से ली गई है।अब तो मंत्री जी को पता चल ही गया होगा कि कैसे –कैसे धंधे उनके नाक के नीचे उनके अधिकारी करते हैं।

अब जरा सोचिए रोज बेचारा मरीज के परीजन कैसे इस भ्रष्ट सिस्टम से गुजरता होगा। अब ये भी जान लीजिए कि आइजीआइएमएस में प्रवेश के 20 मिनट बाद ही पार्किंग शुल्क लगना है। इसमें भी तीन-चार पहिया वाहनों से चार घंटे तक की पार्किंग के लिए महज 15 रुपये लेने हैं, जबकि मंत्री के वाहन से प्रवेश के साथ ही चालान के रूप में 25 रुपये ले लिया गया।

ऐसे जिसने भी मंत्री जी से वसूली की है वो ठीक ही किया है क्योंकि अगर कोई उनसे शिकायत करता तो वो कहते ऐसा नहीं है।चलिए कम से कम इसी बहाने मंत्री जी को तो अब हकीकत पता चल गया ना।