राम मंदिर को लेकर देश की सियासत लंबे वक्त से गर्म रही है। अब राम मंदिर निर्माण कार्यक्रम को लेकर गर्माहट बढ़ी हुई है। कांग्रेस ने नसीहत दी है कि राजनीति का धर्म होना चाहिए धर्म की राजनीति नहीं होनी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि मैं राम मंदिर निर्माण के कार्यक्रम के 24 घंटे पहले कोई राजनीतिक बयान नहीं देना चाहता। लेकिन यह कहना चाहता हूं कि राजनीति का धर्म होना चाहिए, धर्म की राजनीति नहीं होनी चाहिए यही राम की मर्यादा है। इस मामले पर प्रियंका गांधी की प्रतिक्रिया भी सामने आयी है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा-‘सरलता, साहस, संयम, त्याग, वचनवद्धता, दीनबंधु राम नाम का सार है। राम सबमें हैं। राम सबके साथ है। भगवान राम और माता सीता के संदेश और उनकी कृपा के साथ रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने।’अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चल रहे तीन दिन के अनुष्ठान का आज दूसरा दिन है। इस बीच, कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘सरलता, साहस, संयम, त्याग, दीनबंधु राम नाम का सार है। राम सब में हैं, राम सबके साथ हैं। भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने।’