अहमदाबाद: गुजरात तट हाई अलर्ट पर है। कश्मीेर के मुद्दे पर भारत और पाकिस्ताइन के बीच चल रहे तनाव के बीच इस ना’पाक’ चाल से निपटने के लिए…

सभी बंदरगाहों और महत्वडपूर्ण प्रतिष्ठा नों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। खुफिया जानकारी के अनुसार पाकिस्तान कमांडो सरक्रीक इलाके में ‘हरामी नाला’ के जरिए भारत में प्रवेश कर सकते हैं।

क्या है हरामी नाला’ ?

हरामी नाला गुजरात के कच्छा इलाके में भारत और पाकिस्ताकन को बांटने वाला 22 किमी लंबा समुद्री चैनल है। यह दोनों देशों के बीच सर क्रीक इलाके की 96 किलोमीटर विवादित सीमा का हिस्साी है। 22 किमी हरामी नाला घुसपैठियों और तस्कनरों के लिए स्व र्ग के समान है।इसी वजह से इसका नाम ‘हरामी नाला’ रखा गया है। यहां पानी का स्त्र ज्वा र-भाटे और मौसम की वजह से लगातार बदलता रहता है। इसीलिए इसे बेहद खतरनाक भी माना जाता है।

ऐसा कहा जाता है कि वर्ष 2008 में पाकिस्ता।नी आतंकवादियों ने भारतीय मछली पकड़ने वाली नौका ‘कुबेर’ को सर क्रीक तट से जब्ता किया और वहां से वे गुजरात आए और मुंबई पर हमला किया।

दीनदयाल (कांडला) पोर्ट और अडानी द्वारा संचालित मुंद्रा पोर्ट और राज्यप सरकार को दी गई खु‍फिया सूचना के मुताबिक पाकिस्ताऔन प्रशिक्षित कमांडो हरामी नाला, खवडा या नजदीकी इलाकों से भारत में प्रवेश कर सकते हैं।