New Delhi,जी.कृष्ण: निर्भया गैंगरेप के दोषी फांसी के खिलाफ अब इंटरनेशनल कोर्ट (ICJ) की शरण में गये हैं। दोषियों के वकील ए पी सिंह ने सोमवार को इंटरनेशनल कोर्ट को पत्र लिखा। पत्र में 20 मार्च की होने वाली फांसी पर रोक लगाने की मांग की गई है। साथ ही मांग की है कि निचली अदालत के सभी रिकॉर्ड अदालत अपने पास मंगाए ताकि वो अपना पक्ष अंतरराष्ट्रीय अदालत में रख सके। पत्र नीदरलैंड के दूतावास को दिया गया है जो ICJ को भेजा गया है।


इससे पहले सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने दोषी मुकेश सिंह की उस याचिका को खारिज कर दिया जिसमें उसने अपने सभी कानूनी उपायों को यह कहते हुए बहाल करने का अनुरोध किया था कि उसके पुराने वकील ने उसे गुमराह किया था। कोर्ट ने कहा कि सभी कानूनी उपायों को बहाल करने का अनुरोध करने वाली निर्भया मामले के दोषी मुकेश सिंह की याचिका विचारणीय नहीं है। दिल्ली् कोर्ट के द्वारा जारी डेथ वारंट के अनुसार इन सभी दोषियों को तिहाड़ जेल में 20 मार्च को फांसी होनी है। फांसी सुबह साढ़े पांच बजे होगी।