New Delhi,R.Kumar/G.Krishn: निर्भया के दोषियों की दया याचिका पर राष्ट्रपति का फैसला कभी भी आ सकता है। इधर Nirbhaya के गुनहगारों को फांसी पर लटकाने के लिए पवन जल्लाद तैयार है। यूपी सरकार की Meerut Jail से जुड़ा पवन जल्लाद मां काली की पूजा कर के ही गुनहगारों को फांसी पर लटकाता है।

पवन का कहना कि उसे बस शासन के आदेश का इंतजार है, जैसे ही उसे आदेश मिलेगा वो निर्भया के गुनहगारों को फांसी चढ़ा देगा। उसने कहा कि निर्भया के गुनहगारों को फांसी के फंदे पर लटकाने से बड़ा काम उसके जीवन में कोई दूसरा नहीं हो सकता। वो इस बात पर जीवन भर फक्र महसूस करेगा कि उसने ऐसे दानवों को फांसी पर लटकाया था।


तिहाड़ जेल के अंदरर का माहौल भी कुछ बदला-बदला सा नजर आ रहा है। खबर ये भी है कि तिहाड़ जेल में बंद चारों दोषियों (अक्षय, मुकेश, विनय और पवन) को फांसी की भनक लग गई है। अब उनकी नींद उड़ चुकी है, घबराहट में उनका खाना-पीना तक छूट गया है। फांसी की आहट का असर ये है कि अब दोषी अपने-अपने सेल में देर रात तक चक्कर काटते रहते हैं। किसी भी दोषी को कोई दवा नहीं दी गई है, लेकिन इन्हें तरल पदार्थ और ठोस भोजन इस तरह से दिया जा रहा है कि इनका रक्तचाप सही रहे।

अंदरखाने की खबर ये है कि चारों दोषियों को फांसी देने वाली दया याचिका पर राष्ट्रपति जल्द ही मुहर लगा सकते हैं। लेकिन इससे पहले तिहाड़ जेल में फांसी कोठी और अन्य चीजों की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। दोषियों को 16 या फिर 29 दिसंबर को फांसी पर लटकाया जा सकता है। आपको बतादें कि निर्भया की मौत 29 दिसम्बर 2012 को ही हुई थी।