नई दिल्ली,जी.कृष्ण: देश की बहुचर्चित निर्भया गैंगरेप और हत्या मामले में दिल्ली की एक अदालत में आज सुनवाई हुई। Nirbhaya की मां अदालत में रो पड़ी। वह दोनों हाथों को जोड़कर जज से कहा कि इंसाफ के लिए मैं कई सालों से अदालत के चक्कर लगा रही हूं। आज कुछ फैसला करें। निर्भया के पिता ने कहा इनको वकील देना आज की तारीख में अन्याय होगा। जज ने कहा कि नियम के हिसाब से वकील देना होगा। इसके बाद निर्भया के पिता ने कहा हम इंसाफ चाहते हैं।

निर्भया केस में सुप्रीम कोर्ट ने चारों दोषियों को फांसी की सजा सुनाई थी। इसके बाद दया याचिका और क्यूरेटिव पेटिशन के कारण से दो बार फांसी की तारीख टालनी पड़ी है। कोर्ट ने फिलहाल अनिश्चितकालीन के लिए दोषियों की फांसी की तारीख टाल दी है।निर्भया की मां रोते हुए कोर्ट से बाहर निकल गई। निकलते हुए उन्होंने कहा कि मैं अब भरोसा और विश्वास खोती जा रही हूं। कोर्ट को यह जरूर समझना होगा कि दोषी देरी करने के लिए लगातार हथकंडे अपना रहे हैं।निर्भया की मां ने कहा कि मैं अपनी बेटी के लिए न्याय पाने यहां से वहां भटक रही हूं। दोषी सजा टालने के लिए हथकंडे अपना रहे हैं। मैं यह नहीं समझ पा रहीं हूं कि कोर्ट इस बात को क्यों नहीं समझ पा रहा है।