नई दिल्ली,उमाशंकर:इस वक्त की सबसे बड़ी खबर वित्त मंत्रालय से आ रही है।सुस्त पड़ी भारतीय अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाउसिंग और एक्सपोर्ट सेक्टर के लिए बड़ा ऐलान किया है।

वित्त मंत्री ने कहा कि देशभर में अटके पड़े ऐसे अफोर्डेबल और मिडिल क्लास हाउसिंग प्रोजेक्ट जो एनपीए नहीं हैं, दिवालिया अदालत में नहीं हैं और जिनकी पॉजिटिव नेटवर्थ है, उन्हें स्पेशल विंडो के जरिए उन्हें मदद दी जाएगी।ऐसे प्रोजेक्ट पूरे करने के लिए अलग फंड बनाया जाएगा। इसमें सरकार 10 हजार करोड़ रुपए का योगदान देगी। इतनी ही रकम अन्य निवेशक देंगे। इनमें एलआईसी, कुछ अन्य संस्थान, बैंक और सॉवरेन फंड शामिल होंगे। इस योजना से देशभर में अटके 3.5 लाख घरों को पूरे करने में पूरे करने में मदद मिलेगी।केन्द्र की मोदी सरकार के इस फैसले से रियल एस्टेट का मंदा चल रहा धंधा में अब रफ्तार पकड़ने की उम्मीद की जा रही है। जाने-माने रियल एस्टेट कारोबारी (CMD,गृह वाटिका) और फिल्म अभिनेता व गायक राज रंजीत ने कहा कि ये स्वागत योग्य कदम है।

आगे उन्होंने कहा की देर से ही सही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने ठोस पहल की है। सरकार के इस फैसले से ना सिर्फ रियल एस्टेट बल्कि अन्य सेक्टरों में भी तेजी आएगी।उनका कहना था की अगर सरकार उनलोगों की सुने तो देश में बेरोजगारी और आवास जैसी बड़ी समस्या को दूर किया जा सकता है।