मेरठ/ प्रमोद शर्मा।

RSS के इतिहास का अब तक का सबसे बड़ा स्वयं सेवक समागम रविवार सुबह से मेरठ में शुरू हो गया. इस कार्यक्रम की सुरक्षा के लिए यूपी पुलिस ने पूरे जिले को 10 जोन और 39 सेक्टरों में बाटा है. इस समागम में आने के लिए तीन लाख से ज्यादा लोगों ने पंजीकरण कराया है.

इस समागम का मकसद 2019 के आम चुनावों के लिए जनता की नब्ज टटोलना है. बीजेपी को 2014 में सर्वाधिक 73 लोकसभा सीटें उत्तर प्रदेश से ही मिली थीं. इसमें भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश से बीजेपी को सबसे ज्यादा सीटें हाथ लगी थीं. आरएसएस और बीजेपी का मकसद आगामी चुनावों में युवा मतदाताओं को लुभाना है.

राष्ट्रोदय का मंच 182 फीट चौड़ा और 35 फीट ऊंचा बनाया गया है. इस मंच का बैक ड्रॉप 92 फीट ऊंचा है. मंच पर जाने के लिए लिफ्ट और सीढ़ियां बनाई गई हैं. 35 फीट ऊंचे मंच से RSS प्रमुख मोहन भागवत समेत कई नेता स्वयं सेवकों को संबोधित करेंगे.

वहीं, दूसरी तरफ मंच के आगे की तरफ जहां 35 फीट ऊंचा और करीब 125 फीट लंबा चार घोड़ों की आकृति वाला रथ भी लगाया गया है. मंच के पीछे 92 फीट का बैक ड्रॉप सूर्योदय की आकृति का है. इस विशाल आयोजन में अब तक 3 लाख 13 हजार, 393 लोगों ने पंजीकरण कराया है.

मेरठ के एसएसपी मंजिल सैनी ने कहा है, ‘सुरक्षा के लिहाज से भारी मात्रा में फोर्स लगाई गई है, जिसमें जिले के साथ साथ, जोन स्तर और पुलिस मुख्यालय फोर्स भी है. एसपी के साथ डिप्टी एसपी, इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, एलआईयू, ट्रैफिक, एटीएस के कमांडो भी तैनात रहेंगे. 15 कंपनी पीएसी, 3 कंपनी RAF को भी तैनात किया गया है. जिले में भारी वाहनों का प्रवेश भी बंद कर दिया गया है. सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए है और जांच के लिए ड्रोन कैमरों की भी मदद ली जाएगी.

मेरठ के जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कहा है कि पुलिस के साथ साथ प्रशासनिक अमला भी इस आयोजन में लगा हुआ है. पूरे जनपद को 10 जोन में बाटा गया है 8 एडीएम और दर्जनों एसडीएम भी लगे हैं.