मुंबई-कर्ज माफी की मांग को लेकर मुंबई पहुंचे किसान अपना आंदोलन वापिस लेने को राजी हो गए हैं। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उन्हे भरोस दिलवाया कि महाराष्ट्र सरकार किसानों को दिए वादे निभाएगी। इसके साथ ही किसानों को लिखित भरोसा भी दिया जाएगा। सीएम के इस आश्वासन के बाद किसानों ने आंदोलन ने करने का फैसला लिया।

किसानों की 12-13 मांगे हैं जिसमें से कुछ मान ली गई हैं। वहीं राज्य सरकार के एक और मंत्री वी सावरा ने कहा ‘किसानों की शिकायत है कि जो हमारी जमीन है उससे कम उनके नाम पर है, तो जितनी भी जमीन वो खेती कर रहे हैं वो उनके नाम पर होनी चाहिए। मुख्यमंत्री इस मांग पर सहमत हैं। मुख्य सचिव इस बारे में आगे की कार्रवाई करेंगे और 6 माह में क्रियान्वन करेंगे।’

बता दें कि अखिल भारतीय किसान सभा के नेतृत्व में नासिक से निकला किसानों का जत्था मुंबई के आजाद मैदान में डटा हुआ था। पूर्ण कर्जमाफी यानी कर्जमुक्ति जैसी मांगों को लेकर ये किसान करीब 200 किलोमीटर की पदयात्रा के बाद मुंबई पहुंचे थे। नाराज किसानों ने आज विधानसभा का घेराव करने का ऐलान भी किया था।किसानों के इस आंदोलन पर राजनीति भी शुरू हो चुकी थी ।