मोदी सरकार 1 फरवरी को अपना आम बजट पेश करने जा रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में आम बजट पेश करेंगी। इस बजट से लोगों की बड़ी उम्मीद हैं। माना जा रहा है कि वित्त मंत्री इस बजट में सार्वजनिक क्षेत्र की साधारण बीमा कंपनियों को लाभ दे सकती है। इन बीमा कंपनियों के लिए सरकार दूसरे दौर की पूंजी डालने की घोषणा कर सकती हैं।बीमा कंपनियों के आर्थिक स्वास्थ को सुधारने के लिए सरकार बजट में ऐसे ऐलान कर सकती है।

वित्त मंत्री ने पिछले महीने पहली अनुदान के लिए अनुपूरक मांग में तीन बीमा कंपनियों के लिए 2500 करोड़ की घोषणा की।इसमें नेशनल इंश्योरेंस, ओरियंटल इंश्योरेंस और यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस शामिल है, लेकिन इन बीमा कंपनियों को सॉल्वेंसी मार्जिन के लिए 10,000 से 12,000 करोड़ रुपए के अतिरिक्त फंड की जरूरत पड़ेगी, उम्मीद की जा रही है कि इस बजट में ये घोषणा वित्त मंत्री कर सकती है। कंपनियों को इस राहत के बाद न केवल उनके विलय का रास्ता भी खुल सकेगा। वहीं इनके विलय का रास्ता भी खुल सकेंगे। इनकी खराब वित्तीय हालत की वजह से इनके विलय नहीं हो सकता, लेकिन अब उम्मीद जगी है।