वाराणसी, आनंद के पांडेय : उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य मीना चौबे ने कहा कि भारत की शिक्षा, सभ्यता, गौरव, बल एवं महत्व का मूल यह आध्यात्मिक शक्ति ही है। दुनिया की आंखों के सामने भारतवर्ष इतनी शीघ्रता से इतनी स्पष्टता से एक मजबूत राष्ट्र के रूप में जय जय कार हो रही है और सभी ऐसा होते हुए देख भी रहे हैं। जिन लोगों में देश के प्रति भाव है वे ऐसा करने वाले शक्तियों को देख रहे हैं पहचान रहे हैं और उनके प्रति आदर व श्रद्धानवत हैं। उन्होंने कहा कि हमारा राष्ट्र प्रकृति के कारखाने से तैयार कोई असंस्कृत नई जाति नहीं और न ही यह आधुनिक परिस्थितियों से बन रहा है यह तो दुनियाभर की प्राचीनतम जातियों और बृहत्तम सभ्यताओं में से एक है इसकी प्राण शक्ति अत्यंत अदम्य है, इसकी विशालता अत्यंत उर्वर है इसका जीवन गम्भीरतम और इसकी सम्भाव्यशक्ति अतीव आश्चर्यजनक है और अब यह नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अनेकानेक शक्ति स्त्रोतों को ग्रहण कर नये भारत के रूप में अपने आपको एक संगठित अखण्ड – राष्ट्र शक्ति-भक्ति के साथ पुनः खड़ा हो रहा है।