भारत के लिए एक सुखद समाचार है। अमेरिका सीनेट ने भारत को नाटो सहयोगियों जैसा दर्जा देने के लिए एक विधेयक को पारित किया है। यह विधेयक भारत को अमेरिका के नाटो सहयोगियों के बराबर का दर्जा प्रदान करता है। इससे पहले अमेरिका इजरायल और दक्षिण कोरिया को यह दर्जा दे चुका है।

वित्तीय वर्ष 2020 के लिए राष्ट्रीय रक्षा प्राधिकरण अधिनियम (NDAA) के संसोधन को अमेरिकी सीनेट ने पारित किया। इससे भारत को अमेरिका के साथ रक्षा सहयोग बढ़ाने में सहायता मिलेगी। इस विधेयक के पारित होने से अमेरिका अब अपनी सभी जटिल रक्षा तकनीकी भारत को दे सकता है।

इस संशोधन से हिंद महासागर में भारत अमेरिका के बीच मानवीय सहायता, आतंकवाद विरोधी अभियान, समुद्री डकैतों के खिलाफ अभियान और समुद्री सुरक्षा जैसे क्षेत्रों रक्षा सहयोग के क्षेत्रों में सहयोग बढ़ेगा। इस विधेयक को अमेरिकी कांग्रेस के दोनों सदनों- प्रतिनिधि सभा और सीनेट में पास होने के बाद कानून में बदला जाएगा।