जेडीयू के महासचिव केसी त्यागी ने आरजेडी पर तंज कसते हुए कहा है कि जेडीयू के अलग होने के बाद आरजेडी की ताकत और जनाधार इतनी भी नहीं बची है कि वो लोकसभा चुनाव में खाता भी खोल पाती।

केसी त्यागी ने बिहार में तीसरे मोर्चे को लेकर भी बड़ा बयान दिया है। केसी त्यागी ने कहा कि तीसरे मोर्चे के कई नेता चोरी-छुपे हमसे संपर्क करते हैं कि नीतीश कुमार से संवाद हो जाए. तीसरे मोर्चे का सवाल ही पैदा नहीं होता है.​केसी त्यागी ने उपमुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी की बात से सहमत जताई है.

दरअसल, सुशील मोदी ने कहा है कि तेजस्वी प्रसाद यादव को उनके परिवार में चुनौती मिल रही है और अब महागठबंधन ने भी उन्हें नेता मानने से इनकार कर दिया है, क्योंकि लोकसभा चुनाव में उनके बड़बोलेपन की हवा निकल चुकी है. राहुल गांधी और तेजस्वी का निराशाजनक परफार्मेंस देख कर वंशवादी राजनीति के पैरोकार जितनी जल्दी अपनी राय बदल लेंगे, वे अपनी पार्टी और लोकतंत्र का उतना ही भला करेंगे.