वाराणसी। काशी प्रांत में विश्वहिंदू परिषद के महिला संगठन दुर्गा वाहिनी द्वारा दुर्गा चालीसा पढ़कर शस्त्र पूजन किया गया। इस पावन अवसर पर राज्य महिला आयोग की सदस्य और नारी जागरण की संपादक श्रीमती मीना चौबे ने कहा कि मातृशक्ति का यह जागरण “शस्त्र शास्त्र भवतु भारतम्” की परिकल्पना को पूर्ण करेगा।  

श्रीमती चौबे ने शक्ति संचयन के बीज मंत्र “अहं रुद्राय धनुरा तनोमि ब्रह्मद्विषे शरवे हन्तवा उ.I अहं जनाय समदं कृष्णोम्यहं द्यावापृथिवी आ विवेशII”  के जरिए आधी आबादी को उनकी शक्ति का एहसास दिलाया। साथ ही उन्होंने कहा कि जब जब इस धरा पर धर्म की हानि होगी मातृशक्ति की तरफ कोई कुदृष्टि डालेगा तब तब उनके संहार के लिए मैं शस्त्र उठाती हूँ यह देवी सूक्त मातृशक्ति के शक्ति संचयन का बीज मन्त्र सा है।

उन्होंने कहा कि आज मातृशक्ति के उत्थान के लिए केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं साथ ही उन्हें कानूनी अधिकार भी प्राप्त है, इसलिए मातृशक्ति के अस्मिता व भारत माता की आन, बान, शान व अपने आराध्य भारत माता के लिए अपना सब कुछ त्याग कर देश सेवा को तत्पर होने को आतुर है।उन्होंने कहा कि आज आधी आबादी “सड़क से लेकर संसद” “थल से लेकर नभ तक” “रसोई से लेकर युद्ध ” तक हर क्षेत्र में अपने योगदान से स्वयंसिद्धा बनी हुई है। बस जरूरत है उन्हें जगाने की उनके जागरण की। तभी सही मायने में “नारी जागरण” होगा ।इस मौके पर रागिनी मिश्रा, रागिनी तिवारी, दुर्गा दुबे, रीता दुबे, सीमा तिवारी, प्रियंका, श्रेया मिश्रा, आयुषी मिश्रा, अर्जुन मौर्य, उमेश मिश्रा, धर्मयात्रा फाउंडेशन की संरक्षिका आशा आनंद पांडेय समेत बड़ी तादाद में लोग मौजूद रहे।