बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. संजय जायसवाल ने अपने एक पोस्ट से राजनीति को गरमा दिया है। दरअसल कोरोना संकट के दौरान में देश की सियासी गर्माहट लगातार गर्म है। रोज नये बयान सामने आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी पाॅलिटिकल वार चल रहा है। अब डाॅ. संजय जायसवाल ने एक विवादित पोस्ट किया है। दरअसल उन्होंने फेसबुक पर एक लंबा चैड़ा पोस्ट लिखा है और कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और महराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे की तुलना मौलाना साद से कर दी है।

डाॅ. संजय जायसवाल ने लिखा है-‘ ‘उद्धव ठाकरे ,मौलाना साद ,अरविंद केजरीवाल. इन तीनों का एक दूसरे से कोई संबंध नहीं है पर तीनों की मानसिकता एक है। कैसे देश में करोना महामारी को फैलाया जाए और उसके बाद अपने बारे में विक्टिम कार्ड खेला जाए । कल मुंबई के विभिन्न स्टेशनों पर जो कुछ भी हुआ वह तबलीगी मरकज और आनंद विहार मे किए गए कर्मों की याद दिलाता है । मुंबई में ट्रेनों का समय तय था और 145 रेल उपलब्ध करा दी गई थी । फिर जानबूझकर 12ः00 बजे तक किसी प्रवासी को स्टेशन नहीं भेजा गया और हजारों प्रवासीयों को एक जगह इकट्ठा होने दिया गया। ये जब किसी तरह विभिन्न गांवों में पहुंचेंगे तो मुंबई में एक जगह रहने के कारण इनके द्वारा करोना संक्रमण फैलाने की घटनाएं बहुत ज्यादा हो सकती हैं ।

सभी प्रवासियों को पहले दिन से खाने की व्यवस्था केंद्र सरकार के कोष से हुई थी पर इन लोगों ने खिलाने के बदले स्वयं के खाने में सारा ध्यान दिया। दोनों नेता और तबलीगी मरकज का मकसद एक ही है कि भारत में किसी तरह हर कोने में करोना फैलाओ और उसके बाद मोदी सरकार पर दोषारोपण करो। कल ही दीदीमां साध्वी ऋतंभरा का फेसबुक लाइव सुन रहा था कि जब आप विध्वंस की कामना करते हैं तो सबसे पहले आप का ही नाश होता है। इन तीन रहनुमाओं के कारण दिल्ली, मुंबई और तबलीगी मरकज की हालत कुछ ऐसी ही है।’