कोरोना के कहर से पूरी दुनिया कराह रही है। भारत में भी संक्रमण का भीषण संकट है। इस वायरस ने जन-जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। देश महीनों लाॅकडाउन मोड में रहा है। अर्थव्यवस्था की हालत खराब है ऐसे में पूरी दुनिया उम्मीद लगाये बैठी है कि कोरोना की वैक्सीन मिल जाए। अच्छी खबर यह है कि भारत समेत पांच देशों में इस महीने रूस की कोरोना वैक्सीन का ट्रायल शुरू होगा।रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) के अध्यक्ष किरिल दिमित्रीव ने सोमवार को बताया कि रूस की कोरोना वैक्सीन ‘स्पुतनिक वी’ के ट्रायल इस महीने कुछ देशों में शुरू होंगे।

इन देशों में भारत भी शामिल है। भारत के अलावा ये ट्रायल सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), फिलीपींस और ब्राजील में भी होंगे।बता दें रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पिछले माह घोषणा की थी कि रूस के वैज्ञानिकों ने कोविड-19 का दुनिया का पहला टीका ‘स्पुतनिक-वी’ विकसित कर लिया है। उन्होंने कहा था कि उनकी एक बेटी को टीका लग चुका है, यह काफी प्रभावी है और शरीर में स्थाई प्रतिरोधक क्षमता विकसित करता है। भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने में सफलता पाने के लिए रूस की सरकार और वहां की जनता को बधाई दी थी। सिंह ने शुक्रवार को एससीओ की बैठक में कहा था, ‘मैं रूस की सरकार और जनता को कोविड-19 महामारी पर सफलतापूर्वक नियंत्रण पाने के लिए बधाई देता हूं।’