हाल के दिनों में कई झटके खाने वाली आरजेडी को अब सहयोगी कांग्रेस ने झटका दे दिया है। दरअसल कांग्रेस अब पूर्व सीएम और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी के सुर में सुर मिला रही है। मांझी महागठबंधन में लगातार काॅर्डिनेशन कमिटी की मांग करते रहे हैं इसके लिए उन्होंने कई अल्टीमेटम राजद को दिया था। अब कांग्रेस ने भी साफ कह दिया है कि आरजेडी को काॅर्डिनेशन कमिटी बनानी होगी।

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा है कि महागठबंधन की सारी पार्टियां मिलकर तय करेंगी कि उनका नेता कौन होगा. गोहिल ने कहा कि कांग्रेस ये सुनिश्चित करेगी कि महागठबंधन की सारी पार्टियों को सम्मान मिले. इसके लिए आरजेडी को को-ओर्डिनेशन कमेटी बनानी होगी.एक अंग्रेजी अखबार को दिये गये इंटरव्यू में शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि बिहार में महागठबंधन का नेता कौन होगा ये सही समय पर और सर्वसम्मति से तय किया जायेगा. अभी ये फैसला नहीं हुआ है. बिहार में लडाई विचारधारा की है, इसमें किसी एक व्यक्ति को नेता के तौर पर प्रोजेक्ट करके चुनाव लड़ना सही नहीं है.