लखनऊ: शाहजहांपुर यौन शोषण मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद की मुसीबतें कम होने का नाम ले रही हैं। एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा द्वारा यौन शोषण के आरोपों से घिरे स्वामी चिन्मयानंद को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में स्थानीय अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।


इससे पहले कई दिनों की जद्दोजहद के बाद अंतत: यौन शोषण के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को शुक्रवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। अब गिरफ्तार हुए स्वामी चिन्मयानंद ने अपनी गलती मान ली है। मामले की जांच कर रही SIT का दावा है कि चिन्मयानंद ने पीड़ित लड़की को मसाज के लिए बुलाने में अपनी गलती स्वीकार की है।


अब आपको बतादें कि स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ अब तक 59 वीडियो एसआईटी को सौंपे जा चुके हैं। 16 वीडियो तो संजय सिंह ने अपनी एक पेन ड्राइव में एसआईटी को सौंपे थे। इसके बाद शुक्रवार शाम को छात्रा ने भी एसआईटी को 43 वीडियो एसआईटी को सौंप दिए।

छात्रा ने 43 वीडियो जो सौंपे हैं, उसका मानना है कि वह वीडियो स्वामी चिन्मयानंद को जेल तक ले जाने के लिए काफी हैं, छात्रा इन वीडियो को लेकर काफी आत्मविश्वास में हैं। इधर यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने चिन्मयानंद की गिरफ्तारी पर मीडिया को बताया, ‘सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद हमने विशेष जांच टीम (एसआईटी) बनाई थी।

जांच के बाद स्वामी चिन्मयानंद को हमने उनके आश्रम से गिरफ्तार किया और उन्हें जेल भेज दिया गया है। इस मामले में कार्रवाई में कोई देरी नहीं हुई। इसके साथ ही चिन्मयानंद को वसूली के लिए धमकी देने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।’