नई दिल्ली,उमाशंकर:वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने Budget 2020-21 के अपने भाषण में एक बार फिर साल 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया है। उन्होंने कहा कि इस बजट का पूरा फोकस गांव, गरीब और किसान पर है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कृषि क्षेत्र के लिए 16 सूत्रीय एक्शन प्लान तैयार किया गया है। किसानों की बंजर जमीन पर सौर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जाएगा। सरकार ने डीजल-केरोसीन से सौर ऊर्जा की तरफ बढ़ने का लक्ष्य रखा है।

वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार अन्नदाता को ऊर्जादाता बनाएगी। 20 लाख किसानों को सोलर पंप सेट दिया जाएगा। इसके लिए ‘कुसुम योजना’ लॉन्च की जाएगी। ताकि किसानों के खेत में सोलर पंप सेट सिंचाई हो सके। पानी की कमी वाले ऐसे 16 जिलों के लिए प्लान तैयार किया गया है। इसके अलावा महिलाओं के विकास के लिए सेल्फ हेल्प ग्रुप को भी बढ़ावा दिया जाएगा। इंटीग्रेटेड फार्मिंग सिस्टम को बढ़ावा देंगे।

इसके साथ-साथ दूध, मांस और मछली के लिए ‘किसान रेल योजना’ की शुरुआत की जाएगी। इससे खाद्य पदार्थ खराब नहीं होंगे। कृषि उड़ान योजना की भी शुरुआत होगी। वहीं, 2025 तक दूध का उत्पादन दोगुना करने का लक्ष्य भी रखा गया है। इसके अलावा तटीय इलाकों में ‘ब्लू इकॉनमी’ को बढ़ावा दिया जाएगा।वित्त मंत्री ने कहा कि ‘सागर मित्र योजना’ के जरिये मछली पालन को बढ़ावा दिया जाएगा। इसके लिए विस्तृत रूपरेखा तैयार की गई है। 2022 तक 200 टन मछली उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा वाटर हार्वेस्टिंग पर और फोकस किया जाएगा।

निर्मला सीतारमण ने बजट 2020 में शिक्षा क्षेत्र के लिए 99300 करोड़ रुपये और कौशल विकास के लिए 3000 करोड़ रुपये का ऐलान किया है। शिक्षा प्रणाली में सुधार के लिये विदेशों से कर्ज और एफडीआई के उपाय किये जाएंगे। सीतारमण वहीं उन्होंने कहाकि अब ऑनलाइन डिग्री लेवल प्रोग्राम चलाए जाएंगे और इसके लिए जल्द ही सरकार की ओर से नई शिक्षा नीति का ऐलान किया जाएगा। वहीं जिला अस्पतालों में अब मेडिकल कॉलेज बनाने की योजना भी बनाई जाएगी। युवा इंजीनियर्स को इंटर्नशिप की सुविधा दी जाएगी।

वित्तमंत्री ने कहा कि उच्च शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए सरकार काम कर रही है, दुनिया के छात्रों को भारत में पढ़ने के लिए सुविधाएं दी जाएंगी। भारतीय छात्रों को भी एशिया, अफ्रीका के देशों में भेजा जाएगा। राष्ट्रीय पुलिस विश्वविद्यालय, राष्ट्रीय न्यायिक विज्ञान विश्वविद्यालय बनाने का प्रस्ताव रखा गया है। डॉक्टरों के लिए एक ब्रिज प्रोग्राम शुरू किया जाएगा, ताकि प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों को प्रोफेशनल बातों के बारे में सिखाया जा सके।उन्होंने कहा मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहीं कि हमारी सरकार सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास की नीति पर आगे बढ़ रही है।

आज दुनिया में बढ़ती हुई अर्थव्यवस्थाओं की भारत अगुवाई कर रहा है। 2014 से 2019 के बीच मोदी सरकार की नीतियों की वजह से 284 बिलियन डॉलर की FDI आई। उन्होंने पंडित दीनानाथ का एक शेर पढ़ते हुए कहा कि हमारा वतन खिलते हुए शालीमार बाग जैसा, डल लेक में खिलते हुए कमल जैसा, नौजवानों के गरम खून जैसा, मेरा वतन, तेरा वतन, दुनिया का सबसे प्यारा वतन। पिछली बार की तरह सीतारमण इस साल भी लाल रंग के पारंपरिक ”बही खाता में बजट दस्तावेज लेकर संसद पहुंची थी।