बिहार विधान परिषद में आज से बीजेपी का कद बढ़ जाएगा। विधान परिषद में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी होगी क्योंकि जेडीयू के 10 विधान पार्षद आज से पूर्व विधान पार्षद होने जा रहे हैं। राज्यपाल कोटे से मनोनित हुए विधान पार्षदों का कार्यकाल आज खत्म हो रहा है। सभी दस एमएलसी जेडीयू के हैं। दरअसल बिहार विधान परिषद की 12 सीटें राज्यपाल कोटे से मनोनयन से भरी जाती है.

राज्यपाल का तो बस नाम होता है. सरकार जिन नामों को विधान पार्षद बनाने की सिफारिश करती है उन्हें राज्यपाल द्वारा विधान पार्षद मनोनीत कर दिया जाता है. 2014 में नीतीश कुमार ने ऐसे 12 डस्ब् का मनोनयन कराया था. उनमें से 2 पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं. बाकी बचे 10 विधान पार्षदों का कार्यकाल आज यानि 23 जून को समाप्त हो जायेगा.जो डस्ब् आज रिटायर हो रहे हैं उनके नाम ये हैंराम लखन राम रमण, विजय कुमार मिश्रा, राणा गंगेेश्वर सिंह, जावेद इकबाल अंसारी, शिव प्रसन्न यादव, संजय कुमार सिंह, रामवचन राय, ललन कुमार सर्राफ, रणवीर नंदन और रामचंद्र भारती.