विजयादशमी के दिन हर साल रावण वध समारोह का आयोजन होता है। कल जब इस समारोह का आयोजन था तो यह आयोजन बिहार के सियासी गर्माहट की वजह बन गया। बीजेपी के तमाम नेता इस समारोह से दूर रहे। इसको लेकर जब बीजेपी और जेडीयू के बीच झगड़ा बढ़ गया और दोनों दलों के बीच सीधी जंग छिड़ गयी है तो अब बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डैमेज कंट्रोल की कोशिश करते नजर आ रहे हैं। संजय जायसवाल ने बीजेपी नेताओं के रावण वध कार्यक्रम से नदारद रहने पर सफाई दी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक संजय जायसवाल ने कहा कि बीजेपी के नेता अपने काम में व्यस्त थे, इसीलिए नहीं जा पाए।

जहां तक जेडीयू के सवाल उठाने की बात है तो उन्होंने कहा कि उठाने दीजिए कोई फर्क नहीं पड़ता। एनडीए गठबंधन में कोई मतभेद नहीं है। बिना बात का बतंगड़ बनाया जा रहा है। हम खुद कल से लोजपा प्रत्याशी के प्रचार में समस्तीपुर में रहेंगे, उसके बाद जदयू उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए जाने वाले हैं।रावण वध कार्यक्रम में बीजेपी नेता के नहीं शामिल होने पर संजय जायसवाल ने कहा कि यह कोई इशू नहीं है। बीजेपी-जेडीयू के रिश्तों में कोई कड़वाहट नहीं आई है।