सासाराम,रंजन कुमार: रोहतास में बड़ा घोटाला सामने आया है। जहां 216 लोगों ने मिल कर बैंक के 3.70 करोड़ रुपये का गबन कर लिया। दरअसल मामला रोहतास में बैंक ऑफ बड़ौदा की दिनारा शाखा से जुड़ा है। इसकी शिकायत बैंक के उप महाप्रबंधक ने लिखित में की है। आइए अब बताते हैं कि कैसे 3.70 करोड़ रुपये का बंदरबाट कर लिया गया।यहां 216 लोगों के साथ मिलकर फर्जी प्रमाणपत्र व दस्तावेज के आधार पर बैंक अधिकारियों ने रोहतास स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की दिनारा शाखा में गबन कर लिया है।

वर्ष 2015 से 2017 के बीच बैंक के तत्कालीन नामजद आरोपियों ने 216 लोगों से तालमेल कर साजिश के तहत फर्जी भू स्वामित्व प्रमाणपत्र, फर्जी मालगुजारी रसीद और फर्जी बंध दस्तावेज के आधार पर 370 लाख रुपये का कर्ज स्वीकृत कर दिया। बाद में सभी 261 लाभार्थियों ने स्वीकृत राशि बैंक से निकाल ली। इस राशि को सभी आरोपितों ने आपस में बांट लिया।
फिलहाल बैंक के उप महाप्रबंधक की लिखित शिकायत आर्थिक अपराध इकाई की पटना शाखा ने प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। घोटाले में बैंक के चार तत्कालीन अधिकारियों समेत 15 आरोपितों को नामजद किया गया है।

दर्ज प्राथमिकी में बैंक ऑफ बड़ौदा की दिनारा शाखा के तत्कालीन प्रबंधक प्रमोद कुमार, सुरेश प्रसाद सिन्हा, अनूप कुमार और क्रेडिट अधिकारी राजेंद्र प्रसाद तथा लाभार्थी चंद्र पासवान, सत्येंद्र पासवान, अरुण कुमार, परमहंस पांडेय, अवध किशोर पांडेय, कृष्णा पांडेय, बबन सिंह, कृष्ण बिहारी सिंह, विनोद राम, कृष्णा कुमार, शिवकुमार, देवेंद्र यादव, वीरेंद्र पाठक व अन्य को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। आपको बता दें कि जांच शुरू कर दी गयी है और हो सकता है कि घोटाले की राशि और बढ़ सकती है।