मथुरा, मदन सारस्वत : राम मंदिर का निर्माण शुरू होने जा रहा है और इस ऐतिहासिक पल का हर किसी को बेसब्री से इंतजार है हर कोई अपने आराध्य देव को एक भव्य और सुंदर महल में देखने को आतुर है जिसका शुभारंभ कल से होने जा रहा है इस मौके पर देश के प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री और तमाम अन्य वीवीआइपी शामिल होंगे तो वही साधु संतों का भी जमावड़ा उस दौरान वहां मौजूद होगा जो इस अद्भुत अलौकिक पल की साक्षी बनेंगे ऐसे ही एक संत हमारे साथ मौजूद है जो भगवान राम के इस अद्भुत महल की नीम की पूजा करेंगे इस पूजा में शामिल होने के लिए महंत ने वृन्दावन में विधि विधान से पूजा अर्चना की साथ में अयोध्या के लिए रवाना होने से पहले उन्होंने से खास बातचीत की महंत श्री श्री का कहना है की यह पल उन सभी राम भक्तों के लिए एक अद्भुत क्षण होगा जिसकी राम भक्त बहुत लंबे समय से प्रतीक्षा कर रहे थे राम भक्तों का यह सपना था कि वह अपने आराध्य देव को टाट से महल में देखें और अब वह सपना साकार होने जा रहा है महंत श्री का यह भी कहना है कि एक बार राम ने 14 वर्ष का वनवास किया था लेकिन कलयुग में एक बार फिर राम का बनवास अब खत्म हुआ है वृन्दावन से रवाना होते हुए महाराज श्री ने अयोध्या के लिए विशेष इंतजाम भी किए उन्होंने कहना कि जन्म स्थली की रज यमुना महारानी का जल अयोध्या ले जाने के लिए तो लिया ही साथ ही साथ उन्होंने महा समर कुरुक्षेत्र , कपि स्थल , गुरुद्वारा और अन्य अन्य धार्मिक स्थलों की मिट्टी और जल लेकर अयोध्या के लिए रवाना हो रहे हैं जो कि राम मंदिर निर्माण में इससे वहां पूजा-अर्चना जिससे सभी धार्मिक और पौराणिक स्थलों का आभार राम मंदिर में किया । महामंडलेश्वर स्वामी ज्ञानानन्द जी महाराज का कहना है कि  राममंदिर निर्माण की नीव रखना और उस अलौकिक और दिव्या अवसर पर उनका वहां पहुंचना उनके लिए परम सौभाग्य का क्षण होगा जिस क्षण में भगवान का मंदिर निर्माण की शुरुआत होगी उस पल में उनकी वहां मौजूद है उनके लिए पूरे जीवन का एक महत्वपूर्ण क्षण होगा जब वह खुद अपने आराध्य भगवान के महल की नींव की पूजा के दौरान वहां उपस्थित होंगे।
https://youtu.be/BdyxV197CLU